Apni Sachi Mohabbat Ko Pane Ka Amal · Apni Sachi Mohabbat Ko Pane Ka Wazifa · Apni Sachi Mohabbat Ko Pane Ki Dua · अपनी सच्ची मोहब्बत को पाने का अमल · अपनी सच्ची मोहब्बत को पाने का वज़ीफ़ा · अपनी सच्ची मोहब्बत को पाने की दुआ · मोहब्बत को आसान करने का वज़ीफ़ा · Mohabbat Ko Hasil Karne Ka Wazifa · Mohabbat Ko Hasil Karne Ki Dua

Apni Sachi Mohabbat Ko Pane Ki Dua – अपनी सच्ची मोहब्बत को पाने की दुआ

Apni Sachi Mohabbat Ko Pane Ki Dua

Apni Sachi Mohabbat Ko Paney Ki Dua In Hindi ,” Bhut baar aesa hota hai ke jisse aap mohabbat karte hai wo aapko utni mohabbat aur tawajju nahi dete jitni aap unko dete hai, agar aap apne mehboob ke dil mein beshumaar mohabbat paida krna chahte hai aur unki paak mohabbat hasil karna chahte hai to aap apne pyar ko paane ka amal kare. kuch hi waqt mein aapka mehboob aapke pyar me pagal ho jayega aur aapko shiddat se mohabbat karne lagega, aur aap done me kabhi naa khatam hone wali mohabbat paida ho jayegi. Kya aap ko lagta hai ki kisi ki mohabbat ko pana asan hai

banner1

वज़ीफ़ा हमेशा से इस्लामिक तरीका रहा है। यह वास्तव में एक प्रार्थना है जो मुस्लिम अल्लाह के सामने करते हैं। इस कारण से सभी को सतर्क रहने की आवश्यकता है। चूंकि अल्लाह सब कुछ देखता है। कोई किसी की शादी नहीं तोड़ना चाहता। लेकिन अगर आपने अपने प्रियजन के साथ विश्वासघात किया है? शादी तोड़ने के लिए वज़ीफ़ा आपको अपनी इच्छा पूरी करने में मदद करेगा। वास्तव में अल्लाह किसी को चोट पहुँचाने के इरादे का समर्थन नहीं करता है।

aksar aesa hota hai ke jinhe hum mohabbat karte hai wo humse mohabbat nahi karta aur door door rahta hai. Dua to Remove Misunderstanding Between Husband And Wife aur lakh kosis ke baad bhi aap unki mohabbat hasil nahi ho paa rahi hai aur agar aapki mohabbat paak hai to aap apni sachi mohabbat paane ka amal parhe. is amal ko parhne se aapko apni mohabbat hasil ho jayegi. aur is amal ko karne se pahle islamic astrologer se baat kar le aur unko apne dil ka haal bta de wo aapko is amal ke bare mein ache se bta denge aur aapko sahi rahta dikha denge Kabhi kabhi puri umar guzar jati hai aur sacha pyar nahi milta. Aise me insaan bebas mehsoos karta hai.

Apni Sachi Mohabbat Ko Pane Ka Wazifa

  • Hijri mahine ke shuruat wale hafte mein kisi bheed wali jagah se door chale jaye.
  • Kahi tanhai aur khamoshi wali jagah dhunde.
  • Insha ki namaz se farig hoke isko shurr kare.
  • Sabse pehle 11 martaba Durood Shareef parhe.
  • Uske baad is dua ko 101 martaba parhe
  • “Alla Humma Aja’alani Mahboobin Fi Milti Bihaqqi Ya Buduhoo Ya Budohoo”
  • Aakhir mein 11 martaba Durood Shareef phir se parhe.
  • 40 roz tak aap bina nagah is amal ko kare.
  • Phir thoda sa shirni banaye aur apna muh mitha kar le.
  • Poore dua ke dauran apne mehboob ka khayal apne mann mein rakhe.
  • Insha Allah, apke 40 din poore hone se pehle hi ye dua apna asar dikhane lagegi
  • aur aapke mehboob aapse bepanah mohabbat karne lagenge

Is duniya ka har ek insaan jo hai woh apni sachi mohabbat ko pana chahta hain. Kyunki sachi mohabbat bahut mushkil se milti hain. Koi insaan apni sachi mohabbat ko khona nahi chahta hain. Lekin aksar kuch wajaho se insaan ko apni sachi mohabbat ko khona padhta hain. Lekin jab ek shaks apni sachi mohabbat ko kho deta hain uske baad hi use apni sachi mohabbat ki ehmiyat maloom chalti hain. Isiliye jis bhi shaks ko apni mohabbat ko pana hain usko chahiye ki woh mohabbat ko pane ka amal ko kare. Bahut se log jo hain woh bahut koshisho ke baad bhi apni sachi mohabbat ko nahi pa pate hain.

Apni Sachi Mohabbat Ko Pane Ka Amal

Aise mein unko chahiye ki woh mohabbat ko pane ka wazifa ko kare. Jab insaan puri tareeke se nakamyab ho jata hain apni mohabbat ko pane mein. Aise mein yeh mohabbat ko pane ka wazifa bahut hi madadgar sabit hota hain. Is wazifa ko insaan ko chahiye ki puri tayari ke saath kare. Jo bhi shaks apni mohabbat ko kho dete hain woh puri tareeke se gam mein dhoob jata hain. Aise mein bahut se log apni jaan bhi de deta hain. Lekin jaan dene koi mushkil ka haal nahi hain. Islam mein har cheez ka raasta bataya gaya hain. Jis bhi shaks ko apni mohabbat wapas chahiye usko chahiye ki woh mohabbat ko pane ka tarika ko kare.

Is tarika ko agar insaan pure dhyaan ke saath kare to woh apni mohabbat ko wapas pa sakta hain. Is tareeke ko karne se pehle Molvi Saheb ki madad le leni chahiye. Aksar log apne maa baap ki wajah se apni mohabbat ko chor dete hain. Har maa baap ka yahi sapna hota hain ki woh apne bache ki shadi apne marzi ke mutabik kare. Isiliye bahut se logo ko apne maa baap ki wajah se apni mohabbat ko chorna padhta hain. Lekin apni pehli mohabbat ko bhul pana itna asan nahi hain. Aise mein mohabbat ko pane ki dua ko parhne se insaan apne maa baap ko raazi kar sakta hain aur apni mohabbat ko wapas pa sakta hain.

Mohabbat Ko Hasil Karne Ka Wazifa

Mohabbat ko pane ka amal ko karne ka tareeka yeh hain. Sabse pehle jo bhi shaks is amal ko kare woh taza wuzu bana le. Is amal ko Esha ki namaz parh ke kare. Uske baad 22 baar Durood –e-Pak ko parhe. Uske baad mohabbat ko pane ki dua ko parhe- “Allahumma Ja’alnee Mehboobin Fi Miltee Bi Haqqi Ya Budduhoo Ya Budduhoo.” Is Dua ko 501 baar parhe. Phir uske baad Surah Muzammil ko 36 baar parhe. Uske baad apne mehboob ka naam 101 baar le. Uske baad akhri mein phir se Durood –e-Pak ko 22 baar parhe. Phir Allah SWT se sache dil se Dua mange. Is amal ko 45 din tak kare bina kisi galti ke.

Aise mein mohabbat ko pane ka wazifa bahut hi madadgar sabit hota hain. Is wazifa ko insaan ko chahiye ki puri tayari ke saath kare. Jo bhi shaks apni mohabbat ko kho dete hain woh puri tareeke se gam mein dhoob jata hain. Aise mein bahut se log apni jaan bhi de deta hai. Lekin jaan dene koi mushkil ka haal nahi hain. Islam mein har cheez ka raasta bataya gaya hain. Jis bhi shaks ko apni mohabbat wapas chahiye usko chahiye ki woh mohabbat ko pane ka tarika ko kare. Is tareeke ko karne se pehle Molvi ji ki madad le leni chahiye. Aksar log apne maa baap ki wajah se apni mohabbat ko chor dete hain.

Mohabbat Ko Hasil Karne Ki Dua

Kya aap kisi ko sache dil se pasand karte hai Kya aap usse shadi karne ki khwahish apne dil mein rakhte hai Kya aap ye chahte hai ki wo bhi aapse poori kasrat se mohabbat kare Agar ha toh turant mohabbat pane ka wazifa us shaks ke dil mein aapke liye bepanah mohabbat paida karega ki wo aapke liye deewana ho jayega aur din raat sirf aapke sath rehne ki khwahish karega. Aise mein mohabbat ko pane ki dua ko parhne se insaan apne maa baap ko raazi kar sakta hain aur apni mohabbat ko wapas pa sakta hain. Har maa baap ka yahi sapna hota hain ki woh apne bache ki shadi apne marzi ke mutabik kare.

Agar aap kisi ko dil hi dil mein chahte hai aur uske samne bolne ki himmat nahi rakhte toh aap mohabbat pane ka wazifa parhe. Insha Allah, jab aap us shaks ko apne khayal mein rakh kar ye wazifa aur dua parhenge toh uske dil mein bhi aapke liye insaniyat paida hogi aur wo aapse khud hi apni mohabbat ka izhar kar denge. Isiliye bahut se logo ko apne maa baap ki wajah se apni mohabbat ko chorna padhta hain. Lekin apni pehli mohabbat ko bhul pana itna asan nahi hain. kayi logo ne is sachi muhabbat pane ka wazifa ka istemal kara aur aj wo apne Mehboob k sath khush hai.

अपनी सच्ची मोहब्बत को पाने की दुआ

अपनी सच्ची मोहब्बत को पाने की दुआ हिंदी में, “भूत बार ऐसा होता है के जिससे आप मोहब्बत करते हैं वो आपको उतनी ही मोहब्बत और तवाज्जू नहीं देते जितनी आप उन्हें देते हैं, अगर आप अपने महबूब के भुगतान किए गए हैं उनकी पाक मोहब्बत आसान करना चाहते हैं तो अपने प्यार को पाने का अमल करे। कुछ ही वक्त में आपका महबूब आपके प्यार में पागल हो जाएगा और आपको शिद्दत से मोहब्बत करने लगेगा, और आप ने कभी ना खतम होने वाली मोहब्बत चुका हो जाएगी। क्या आप को लगता है की किसी की मोहब्बत को पाना आसान है

अक्सर ऐसा होता है के जिन्हे हम मोहब्बत करते हैं वो हमसे मोहब्बत नहीं करता और दरवाजा दूर रहता है। और लाख कोसिस के बाद भी आप उनकी मोहब्बत मुश्किल नहीं हो पा रही है और अगर आपकी मोहब्बत पाक है तो आप अपनी सच्ची मोहब्बत पाने का अमल परे। अमल को परहने से आपको अपनी मोहब्बत हैसिल हो जाएगी। और इस अमल को करने से पहले इस्लामिक ज्योतिषी से बात कर ले और उनको अपने दिल का हाल बता दे वो आपको है अमल के नंगे में अच्छे से होगा और आपको सही रहता दिख जाएगा कभी कभी पूरी उमर है और सच्ची जाति कभी मिलेगी . ऐसे में इंसान बेबस महसूस करता है।

अपनी सच्ची मोहब्बत को पाने का वज़ीफ़ा

  • हिजरी महाने के शुरू वाले हफ्ते में किसी भीद वाली जगह से दूर चले जाएंगे।
  • कहीं तन्हाई और खामोशी वाली जग धुंडे।
  • इंशा की नमाज से दूर होके इस्को शूर करे।
  • सबसे पहले 11 मरतबा दुरूद शरीफ परहे।
  • उसके बाद दुआ को 101 मरतबा परहे है
  • “अल्ला हम्मा अजालानी महबूबिन फाई मिल्टी बिहक़ी या बुदुहू या बुदोहू”
  • आखिर में 11 मरतबा दुरूद शरीफ फिर से पारे।
  • 40 रोज़ तक आप बिना नागाह अमल को करे।
  • फिर थोड़ा सा शिरनी बनाया और अपना मुह मीठा कर ले।
  • पूरी दुआ के दौरे अपने महबूब का ख्याल अपने मन में राखे।
  • इंशा अल्लाह, आपके 40 दिन पूरे होने से पहले ही दुआ अपना असर दिखेगी
  • और आपके महबूब आप से बेपनाह मोहब्बत करने लगेंगे

क्या दुनिया का हर एक इंसान जो है वो अपनी सच्ची मोहब्बत को पाना चाहता है। क्योंकि सच्ची मोहब्बत बहुत मुश्किल से मिलती है। कोई इंसान अपनी सच्ची मोहब्बत को कोई नहीं चाहता है। लेकिन अक्सर कुछ वजाहो से इंसान को अपनी सच्ची मोहब्बत को खोना पड़ता है। लेकिन जब एक शक अपनी सच्ची मोहब्बत को खो देता है उसके बाद ही अपनी सच्ची मोहब्बत की अहमियत मलूम चलती है। इसिलिए जिस भी शक को अपनी मोहब्बत को पाना है उसे चाहिए की वो मोहब्बत को पाने का अमल को करे। बहुत से लोग जो हैं वो बहुत कोशिशो के बाद भी अपनी सच्ची मोहब्बत को नहीं पा पाते हैं।

अपनी सच्ची मोहब्बत को पाने का अमल

ऐसे में उनको चाहिए की वो मोहब्बत को पाने का वजीफा को करे। जब इंसान पूरी तारीके से नाकामयाब हो जाता है अपनी मोहब्बत को पाने में। ऐसे में ये मोहब्बत को पाने का वज़ीफ़ा बहुत ही मदद करता है। वज़ीफ़ा को इंसान को चाहिए की पूरी तयारी के साथ करे। जो भी शक अपनी मोहब्बत को खो देते हैं वो पूरी तारीके से गम में धोब जाता है। ऐसे में बहुत से लोग अपनी जान भी दे देता है। लेकिन जान देने कोई मुश्किल का हाल नहीं है। इस्लाम में हर चीज का रास्ता बता गया है। जिस भी शक को अपनी मोहब्बत वापस चाहिए उसे चाहिए की वो मोहब्बत को पाने का तारिका को करे।

क्या तारिका को अगर इंसान शुद्ध ध्यान के साथ करे तो वो अपनी मोहब्बत को वापस पा सकता है। इस तारीके को करने से पहले मोलवी साहब की मदद ले लेनी चाहिए। अक्सर लोग अपने मां बाप की वजह से अपनी मोहब्बत को चोर देते हैं। हर माँ बाप का याही सपना होता है की वो अपने बचे की शादी अपने मर्जी के मुताबिक करे। इसिलिए बहुत से लोगो को अपने मां बाप की वजह से अपनी मोहब्बत को चोरना पढ़ता है। लेकिन अपनी पहली मोहब्बत को भूल पाना इतना आसान नहीं है। ऐसे में मोहब्बत को पाने की दुआ को परहने से इंसान अपने मां बाप को राजी कर सकता है और अपनी मोहब्बत को वापस पा सकता है।

मोहब्बत को आसान करने का वज़ीफ़ा

मोहब्बत को पाने का अमल को करने का तारीका ये है। सबसे पहले जो भी शक है अमल को करे वो ताज़ा वुज़ू बना ले। अमल को ईशा की नमाज पर के करे। उसके बाद 22 बार दुरूद-ए-पाक को पारे। उसके बाद मोहब्बत को पाने की दुआ को पारे- “अल्लाहुम्मा जाल्नी महबूबिन फाई मिल्ती बी हक्की या बुद्धू या बुद्दुहू।” दुआ को 501 बार परहे। फिर उसके बाद सूरह मुजम्मिल को 36 बार परहे। उसके बाद अपने महबूब का नाम 101 बार ले। उसके बाद आखिरी में फिर से दुरूद-ए-पाक को 22 बार परहे। फिर अल्लाह स्वत से सच्चे दिल से दुआ मांगे। अमल को 45 दिन तक करे बिना किसी गलती के।

ऐसे में मोहब्बत को पाने का वजीफा बहुत ही मदद करता है। वज़ीफ़ा को इंसान को चाहिए की पूरी तयारी के साथ करे। जो भी शक अपनी मोहब्बत को खो देते हैं वो पूरी तारीके से गम में धोब जाता है। ऐसे में बहुत से लोग अपनी जान भी दे देता है। लेकिन जान देने कोई मुश्किल का हाल नहीं है। इस्लाम में हर चीज का रास्ता बता गया है। जिस भी शक को अपनी मोहब्बत वापस चाहिए उसे चाहिए की वो मोहब्बत को पाने का तारिका को करे। इस तारीके को करने से पहले मोलवी जी की मदद ले लेनी चाहिए। अक्सर लोग अपने मां बाप की वजह से अपनी मोहब्बत को चोर देते हैं।

मोहब्बत को आसान करने की दुआ

क्या आप किसी को सच्चे दिल से पसंद करते हैं क्या आप उससे शादी करने की ख्वाहिश अपने दिल में रखते हैं क्या आप ये चाहते हैं कि वो भी आपसे गरीब कसरत से मोहब्बत करे अगर फिर क्या फिरंत मुश्किल से प्यार करता है लिए बेपनाह मोहब्बत मिलेगा की वो आपके लिए दीवाना हो जाएगा और दिन रात सिरफ आपके साथ रहने की ख्वाहिश करेगा। ऐसे में मोहब्बत को पाने की दुआ को परहने से इंसान अपने मां बाप को राजी कर सकता है और अपनी मोहब्बत को वापस पा सकता है। हर माँ बाप का याही सपना होता है की वो अपने बचे की शादी अपने मर्जी के मुताबिक करे।

अगर आप किसी को दिल ही दिल में चाहते हैं और उसके सामने बोलने की हिम्मत नहीं होती तो आप मोहब्बत पाने का वजीफा परे। इंशा अल्लाह, जब आप हमें शक को अपने ख्याल में रख कर ये वज़ीफ़ा और दुआ परेंगे तो उसके दिल में भी आपके लिए होंगे इंसानियत दिया होगी और वो आप खुद ही अपनी मोहब्बत का इज़हार कर देंगे। इसिलिए बहुत से लोगो को अपने मां बाप की वजह से अपनी मोहब्बत को चोरना पढ़ता है। लेकिन अपनी पहली मोहब्बत को भूल पाना इतना आसान नहीं है। काई लोगो ने सच्ची मुहब्बत पाने का वज़ीफ़ा का इस्तमाल कारा और आज वो अपने महबूब के साथ खुश है।

One thought on “Apni Sachi Mohabbat Ko Pane Ki Dua – अपनी सच्ची मोहब्बत को पाने की दुआ

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s